बड़ा लंड छोटा लंड

desi porn kahani

कैसा काय बावा लोग अपन भी न बहुत अच्छे से जानते हैं हर चीज़ को क्यूंकि अपन रहते हैं सख्ती से | अपने को कोई फर्क नहीं पड़ता किसी भी चीज़ से इसलिए मुझे भी लोग पागल कहते हैं | पर अपने को क्या दोस्तों लड़की पट जाए तो ठीक और ना पते तो ठीक चूत का जुगाड़ अपना हो जाता है | इसलिए कहता हूँ कभी निराश नहीं होना चाहिए हमेशा जुगाड़ में लगे रहना चाहिए | इसलिए मैं कभी नहीं भटकता यहाँ वहां क्यूंकि मुझे पता है कि अगर मैंने ऐसा कुछ किया तो जो है वो भी चला जाएगा |

हाय दोस्तों मेरा नाम आकाश है और मैं बीकानेर का रहने वाला हूँ | अभी मैं जयपुर में रहकर पढ़ाई कर रहा हूँ और मौज भी उड़ा रहा हूँ | कहानी का टाइटल पढ़कर आपको लग रहा होगा शादी से पहले मैं और मेरी होने वाली पत्नी ने कहीं जाकर सैक्स किया होगा लेकिन ऐसा नहीं है | मेरी जो गर्लफ्रेंड है उसकी शादी होने वाली थी और हम कुछ नहीं कर सकते थे इसलिए हम दोनों मनाली घूमने गए और बिलकुल किसी हनीमून की तरह वहां कुछ दिन रहकर आये | तो आईये इस बात को थोडा और विस्तार से बताता हूँ और हमने क्या क्या किया वो भी |

तो जैसा की मैंने बताया मेरी एक गर्लफ्रेंड है जिसका नाम नेहा है और अभी भी वो मेरी गर्लफ्रेंड है भले ही उसकी शादी हो गई हो | कुछ दिन पहले की बात है उसका मुझे फ़ोन आया और उसने मुझसे कहा मेरी शादी तय हो गई है और मैं मना भी नहीं कर सकती | मैंने उसको पहले भी चोदा था लेकिन सिर्फ एक बार और ये बात सुनकर मुझे उसको चोदने की तलब और बढ़ गई | वैसे मैं उससे पीछा छुड़ाना चाहता था लेकिन उसको और थोडा चोदने के बाद लेकिन मुझे मौका नहीं मिला | तो मैंने उससे थोड़ी बहुत इमोशनल बातें की, तभी मेरे दिमाग में आईडिया आया कि क्यों न इसको कहीं बाहर लेकर जाऊं और वहां इसको बहुत चोदूं | मैंने उससे कहा चलो जो हो गया वो हो गया लेकिन मैं तुम्हारे साथ और कुछ पल बिताना चाहता हूँ, तो चलो कहीं बाहर चलते है | तो उसने कहा ठीक है मैं कॉलेज ट्रिप बोलकर चल सकती हूँ | फिर हम दोनों ने मिलकर मनाली जाने का फैसला लिया और तीन दिन के बाद वाली ट्रेन से निकल गए |

हमारी साइड वाली बर्थ थी ऊपर से ए.सी. में, तो परदे भी लगे थे मतलब मौका | तो मैंने मौके का पूरा फायदा उठाया, मैं कभी उसके दूध चूसता तो कभी उसको अपना लंड चुसाता और यही सब करते करते हम मनाली पहुँचे | मैंने रूम पहले से ही बुक करवा लिया था और हमें लेने के लिए ओला टैक्सी भी स्टेशन के बाहर आ गई थी, तो जाने में कोई प्रॉब्लम नहीं हुई | जब हम होटल जा रहे थे तो ड्राईवर ने हम से पूछा था कि क्या हम दोनों शादी करके यहाँ आये है ? तो मैंने कहा हाँ ऐसा ही समझ लो | मैं सोच रहा था अगर ये फिर से अपने पति के साथ घूमने आई और यही टैक्सी वाला फसा, तो क्या सोचेगा ? लेकिन वो जो भी सोचे मेरा क्या | फिर हम दोनों होटल पहुँचे और अपने रूम में चले गए | हमने सामान रखा और सीधा जाके बिस्तर पर लेट गए क्यूंकि हम थके हुए थे और हमें नींद आ गई | हमारी नींद शाम को खुली, तो उसने कहा मैं नहा के आती हूँ फिर हम घूमने चलते हैं और नहाने चली गई | तभी मुझे याद आया कि नहाया तो मैं भी नहीं हूँ तो मैं भी उसके पीछे पहुँच गया और उससे कहा मुझे भी नहाना है तुम्हारे साथ, ये सुनकर उसने हवस भरी मुस्कान दी और फिर हम दोनों नहाने के लिए घुस गए |

पहले उसने मेरे कपड़े उतारे और उसके बाद मैंने उसके और जब दोनों नंगे हो गए तो हमने शावर चालू किया और नहाने लगे | पहले मैंने साबुन लिया और उसके हाँथ से लगाना चालू किया और उसके दूध पर पहुँच गया और उसके दूध पर घिसने लगा | फिर मैंने उसके पूरे बदन पर साबुन लगा दिया और मलने लगा | मैं उसके दूध बहुत मल रहा था और फिर मैंने उसको घुमा दिया उसको अपने से चिपका के उसके दूध घिसने लगा | फिर मैंने उसकी चूत पर हाँथ लगाया और थोड़ी देर तक मली और फिर उसको कहा अब तुम | फिर उसने मेरे ऊपर साबुन लगाया और मेरा लंड पकड़ के हिलाने लगी | उसने थोड़ी देर तक मेरा लंड हिलाया और फिर हम शावर के नीचे खड़े हो गए और नहाने लगे और किस भी करते रहे | तभी मेरे लंड ने मुट्ठ छोड़ दिया और हम नहाते रहे | फिर हम बाहर आये और हमने एक दूसरे को तौलिए से पोंछा और कपड़े पहनकर घूमने निकल गए | फिर हमने खाना खाया और थोडा बहुत घूम कर वापस आ गए |

हम वापस आये और जाके कपड़े बदले और बिस्तर पर कम्बल में घुस के बैठ गए और टी.वी. देखने लगे | मैं सोच रहा था टी.वी. पर कोई रोमांटिक मूवी देखूँ लेकिन साली मेरी गर्लफ्रेंड तारे ज़मीन पर लगा के बैठी थी और देख रही | मैंने मन में उसको पचास गाली बकी और फिर थोड़ी देर के लिए लाइट चली गई और कुछ धमाका हुआ | ये लाइट जिसने भी गोल की थी मैं उसको दिल से दुआएँ दे रहा था | फिर मैंने उसको अपनी तरफ खींचा और उसको किस करना शुरू कर दिया | हम किस कर रहे थे तभी लाइट आ गई लेकिन अब क्या अब तो कारवाँ शुरू हो चूका था | टी.वी. भी अपने आप शुरू हो गई लेकिन अब हमारा ध्यान सिर्फ किस करने में था | किस करते समय मैंने एक बात पर ध्यान दिया कि मुझसे ज्यादा तो वो गर्मी दिखा रही थी | फिर मैंने उसका टॉप उतारा और उसका ब्रा मुझसे खुल नहीं रहा था तो उसने खुद ही खोला और उतार दिया |

मैंने उसके दूध पकड़े और जोर जोर से दबा कर चूसने लगा | वो मेरे सिर पर हाँथ फिरा रही थी और ऊम्म्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्म्मम्म उम्म्म्मम्म म्मम्मम्मम्म म्मम्मम्मम उम्म्मम्म्म्म उम्म्म्मम्म्म्म उफ्फ्फ्फफ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फफ्फ्फ्फ़ कर रही थी | मैंने थोड़ी देर तक उसके दूध चूसे और फिर उसने मेरी पैंट खोलना शुरू किया तो मैं रुक गया और उसको देखता रहा | उसने मेरी पैंट उतारी और चड्डी भी और मेरा लंड पकड़ के हिलाने लगी | फिर उसने मेरा लंड चूसना शुरू किया तो मैंने कहा रुको और मैंने कंडोम निकाला और फ्लेवर वाला लगा लिया | फिर उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया अब वो टेस्ट लेकर चूस रही थोड़ी देर लंड चूसने और हिलाने के बाद मेरा लंड ने मुट्ठ निकाल दिया और वो कंडोम के अन्दर ही निकला था | फिर मैं थोड़ी देर बैठा रहा और वो भी मेरे बाजू में आकर बैठ गई थी | फिर मैंने थोड़ी देर बाद उसके पजामें हाँथ डाला और उसकी चूत सहलाने लग गया और वो अपने दूध दबाते हुए अह्ह्ह ह्ह करती रही |

उसके बाद मैंने उसकी चूत में ऊँगली करना शुरू कर दिया जिससे वो उत्तेजित होने लगी और उसके बाद उसने कहा अन्दर तक डालो ना ऊँगली को | मैंने एक ऊँगली उसकी चूत में डाल दी और मुझे उसकी चूत टाइट लगी | उसके बाद मैंने एक और ऊँगली को उसकी चूत में डाल दिया मतलब मैं दो ऊँगली से चोद रहा था उसकी चूत को | फिर मैंने उसके चूत के दाने को अंगूठे से दबाना चालु कर दिया और उसके बाद वो पूरी तरह से मेरे वश में आ चुकी थी |

फिर मैंने उसका पजामा और पैंटी उतार दी और उसकी चूत चाटने लगा और वो मेरा सिर दबाते हुए अ अह्ह्ह ह्ह्ह्ह करती रही | मैं उसकी चूत चाटते हुए अपना लंड भी हिला रहा था और थोड़ी देर में मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा हो गया | फिर मैं उठा और जाके उसको किस करने लगा और उसके दूध दबाये और फिर मैंने उससे कहा तैयार हो ? तो उसने हाँ में सिर हिलाया और मैंने उसकी चूत पर लंड घिसना शुरू कर दिया | जब मैं उसकी चूत पर लंड घिस रहा था वो उम्म्म्मम्म्म्म उम्म्म्मम्म्म्म उम्म्म्मम्म उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ इस्स्स्सस्स्स्स इस्स्स्सस्स्स्स इस्स्स्सस्स्स्स कर रही और फिर मैंने उसकी चूत के छेद पर लंड रखा और अन्दर घुसा दिया | जैसे ही मेरा लंड अन्दर गया वो चद्दर को जमके पकड़ने लगी जैसे पहली बार चुद रही हो | फिर मैंने धीरे धीरे उसको चोदना शुरू किया और वो अह्ह्ह आअ करने लगी |

फिर मैंने अपना पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया और वो मुझे पीछे धक्का देने लगी लेकिन मैं कहाँ रुकने वाला था, मैंने उसको चोदना जारी रखा और वो अआअ अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह करती रही | फिर मैं भी बिस्तर पर उसके पीछे लेट गया और उसकी एक टांग उठाकर उसको चोदने लगा और वो अ ह्ह्ह्ह करती रही | थोड़ी देर इसी तरह चोदने के बाद मैंने उससे कहा घोड़ी बन जाओ और वो बन गई और मैंने पीछे से उसकी चूत में लंड डाला और उसको चोदने लगा | वो अ ह्हह्ह्ह्ह आआआआअ करती रही | तभी मेरे लंड ने फिर से मुट्ठ की बारिश कर दी जब मेरा लंड उसकी चूत के अन्दर था लेकिन डरने की कोई बात नहीं मैंने कंडोम पहना था | फिर मैंने कंडोम निकाल कर फेंका और हम दोनों बिना कपड़े के लेट गए और मैं उसके दूध दबा रहा और फिर हम सो गए |

पर मैं ज्यादा देर तक सो नहीं पाया था क्यूंकि मेरा लंड आधे घंटे बाद फिर से खड़ा हो गया और मैंने उससे कहा यार चल फिर से चुदाई करते हैं | उसने मुझे देखा और कहा क्या यार तुम तो किसी जानवर जैसे हो | मैंने कहा अरे यार मेरा लंड है वैसा मैं नहीं हूँ | मैंने फिर से उसके कपडे उतार दिए और उसके बाद उसकी चूत में अपना लंड डाला और चोदने लगा | उसके बाद वो भी कहने लगी और जोर से करो तो मैंने उसको पूरा जोर लगाके चोदा और उसके बाद मेरा झड़ गया |

उसके बाद हम दोनों वहां दो दिन रहे और सुबह शाम सैक्स किया और उसके बाद हम वापस आ गए | दो महीने बाद उसकी शादी हो गई लेकिन आज भी कभी कभी हम प्लान बनाकर कहीं कहीं मिलते है और सैक्स करते है लेकिन उसके पति को कुछ नहीं पता हमारे बारे में | तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी आशा करता हूँ आपको अच्छी लगी होगी |